BREAKINGNATIONALNEW DELHIPOLITICSPUNJAB

🌐 किसान आंदोलन : आज देशभर में किसानो का अनशन जारी
🌐 किसानो के अनशन को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह के घर अहम बैठक

नई दिल्ली (न्यूज़ लिंकर्स ब्यूरों) : केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के विरुद्ध किसान नेताओं की सोमवार सुबह से एक दिवसीय भूख हड़ताल जारी है। किसानों ने कहा कि सभी जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन किया जाएगा। बता दे कि सिंघू और टीकरी बॉर्डर पर पिछले 19 दिन से चल रहे प्रदर्शनों में पंजाब और अन्य राज्यों से भारी मात्रा में किसानो के साथ अन्य लोग भी शामिल हो रहे है। बताते चले कि इस बीच दिल्ली की ओर बढ़ रहा प्रदर्शनकारियों का विशाल समूह दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध कर रहा है, जिसे पुलिस ने हरियाणा-राजस्थान सीमा पर रोक लिया है। कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर हजारों किसानों का जमावड़ा पिछले दो हफ्ते से अधिक वक्त से लगा हुआ है। किसानों की मांग है कि कृषि कानून रद्द किए जाएं, जिसे केंद्र सरकार नहीं मान रही है। ऐसे में आज दिल्ली की सिंघु, टिकरी, पलवल, गाजीपुर सीमाओं पर किसान सुबह 8 से शाम 5 बजे तक भूख हड़ताल पर रहेंगे। वहीं किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर पर NH9 पर जाम लगाया हुआ है। किसानों ने पिछले 10-15 मिनट से रास्ता जाम किया हुआ है , हालांकि स्टेज पर बैठे नेताओं की ओर से सड़क खाली करने की अपील की जा रही है। दूसरी तरफ दिल्ली में आम आदमी पार्टी के नेता भी अनशन कर रहे हैं। वही केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि सरकार जल्द ही बैठक की नई तारीख तय करेगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बार मुद्दे का हल निकल जाएगा। कई केन्द्रीय मंत्री बार-बार आरोप लगा रहे हैं कि माओवादियों, वामपंथियों और राष्ट्र-विरोधी तत्वों ने किसानों के आंदोलन पर कब्जा कर लिया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रविवार को कहा कि नये कृषि कानून के खिलाफ किसानों के आंदोलन का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। भाजपा अपने राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाने के लिए इस शब्द का इस्तेमाल करती है।

किसानो के अनशन को देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह के घर अहम बैठकसरकार पर दबाव बढ़ाने के लिए किसान अनशन कर रहे है। किसानों को मनाने की लगातार कोशिश कर रही केंद्र सरकार ने एक बार फिर अहम बैठक बुलाई है। गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर जारी बैठक में केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गाबा, गृह सचिव अजय भल्ला व अन्य मौजूद हैं। नरेन्द्र सिंह तोमर ने रविवार को विपक्षी दलों पर नए कृषि कानूनों के बारे में दुष्प्रचार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इन कानूनों से ”कुछ समय के लिये परेशानियां हो सकती हैं”, लेकिन लंबे समय में ये किसानों के लिये फायदेमंद साबित होंगे। गतिरोध खत्म करने के लिये 40 प्रदर्शनकारी किसान संघों के साथ चल रही वार्ता का नेतृत्व कर रहे केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा था कि जब जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिया, तब सरकार को विरोध का सामना करना पड़ा। इसी तरह नागरिकता कानून में स‍ंशोधन और राम मंदिर के मुद्दे पर भी विरोध किया गया। उन्होंने कहा कि जब कृषि सुधार लाए गए तो उस पर भी विरोध हुआ…कुछ लोग केवल विरोध करके देश को कमजोर करना चाहते हैं। यह उनकी आदत बन गई है।

 दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी अनशन परजहाँ किसान भूख हड़ताल पर बैठे है वही दूसरी तरफ दिल्ली में आम आदमी पार्टी के नेता भी अनशन कर रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शाम 4 बजे पार्टी दफ्तर में अपना अनशन तोड़ेंगे। केजरीवाल के अलावा मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन भी भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं। केजरीवाल ने कहा कि वह आंदोलनकारी किसानों के आह्वान पर आज दिन भर अनशन करेंगे और केजरीवाल ने भाजपा नीत केंद्र सरकार से अहंकार छोड़कर कानूनों को रद्द करने की अपील की है । मुख्यमंत्री ने डिजिटल संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि उत्पादों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी की खातिर केंद्र सरकार एक विधेयक लाए। केजरीवाल ने कहा कि आंदोलनकारी किसानों की अपील के मुताबिक सोमवार को वह एकदिवसीय अनशन करेंगे और आम आदमी पार्टी (AAP) के कार्यकर्ताओं और देश के लोगों से इसमें शामिल होने की अपील की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!