AMRITSARBARNALABATHINDABREAKINGCHANDIGARHDOABAFARIDKOTFATEHGARH SAHIBFAZILKAFIROZPURGURDASPURHOSHIARPURJALANDHARKAPURTHALALUDHIANAMAJHAMALERKOTLAMALWAMANSAMOGAMOHALIMUKTSARNATIONALNAWANSHAHRPATHANKOTPATIALAPHAGWARAPOLITICSPUNJABROPARSANGRURTARN TARAN

🌐फिर एक होंगे फुल्ल-तकड़ी, 24 साल इकट्ठे रहने वाले 2 साल भी नहीं रह पाए जुदा
🌐पंजाब में शिअद-भाजपा का गठबंधन लगभग तय, औपचारिक ऐलान बाकी

जालंधर (योगेश सूरी) : भाजपा और शिरोमणि अकाली दल एक बार फिर पंजाब में एक होने जा रहे है। दोनों पार्टियों का गठबंधन तय माना जा रहा है बस औपचारिक ऐलान होना बाकि है। सूत्रों की माने तो दोनों पार्टियों में चुनाव रणनीति से लेकर सीटों के फार्मूला तक सब तय हो चुका है। इसके पीछे कई कारण माने जा रहे है, जिसमें सबसे बड़ा कारण तो विपक्षियों का महागठबंधन है। बेशक भाजपा की तरफ से बार-बार दावे किए जाते है कि क्षेत्रीय दलों से उन्हें कोई फायदा नहीं मिलता, लेकिन हकीकत वास्तव में इससे अलग ही है। भाजपा अपने साथ क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टियों को जोड़ने में जुटी हुई है। पंजाब में भाजपा का अकाली दल के साथ गठबंधन भी उसी रणनीति का हिस्सा है l गठंबधन से अलग होकर सियासी जमीन खो चुके अकाली दल की चिंता कुछ और है। भाजपा-अकाली दल के गठबंधन में इस बार अकाली दल की भूमिका बड़े भाई वाली नहीं रहने वाली। पंजाब में अब परिस्थितियां बदली हुई नजर आ रही है। पंजाब में अपना वजूद खोने के डर से अकाली दल को भाजपा के अनुसार सीटों के फॉर्मूले पर सहमति जतानी पड़ रही है। गौरतलब है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के निधन के बाद से ही दोबारा गठबंधन के कयास लगने शुरु हो गए थे। उप-चुनाव के नतीजों से और ज्यादा क्लीयर हो गया कि दोनों दलों का एक दूसरे के बिना गुजारा नहीं हो सकता। दोनों को ही एक-दूसरे के साथ की जरूरत है। अकाली दल सुप्रीमो सुखबीर बादल अभी दिल्ली में डेरा जमाए हुए वहीं गठबंधन के शर्तों पर विचार-विमर्श चल रहा है। मीडिया रिपोर्टस की माने तो भाजपा-अकाली दोनों पार्टियों में लोकसभा चुनावों में सीटों का फॉर्मूला तय हो चुका है l जिसमें इस बार बीजेपी का कद बढ़ा है और अकाली दल का कद घटा है l पहले जो गठबंधन का 10 और 3 का आंकड़ा था अब वो 8 और 5 का हो गया है l वहीं माना जा रहा है कि जल्द गठबंधन का ऐलान होने के बाद मोदी सरकार के कार्यकाल के अंतिम विस्तार में अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल को दोबारा मोदी मंत्रिमंडल में जगह दी जा सकती हैl

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!