AMRITSARBREAKINGCHANDIGARHCRIMEDOABAJALANDHARMAJHAMALWAPUNJAB

🔰DGP गौरव यादव ने दिखाया पराक्रम, सिद्धू मूसेवाला के कत्ल के दो हत्यारें मुठभेड़ में ढेर, कहा गोली की बात अब होगी गोली से
🔰दो दिन पहले गए थे मूसेवाला के पिता के घर शोक प्रकट करने DGP
🔰गांव भकना में ATF की बड़ी कार्रवाई ने पंजाब में हिलाएं गैंगस्टरों की चूल्हे

अमृतसर/जालंधर/भकना (हितेश सूरी) : पंजाब के नवनियुक्त DGP गौरव यादव के नेतृत्व में ATF ने आज एक बड़ी कार्रवाई में सिद्धू मुसेवाल पर पहली गोली चलाने वाले गैंगस्टरों जगरुप सिद्धू मूसेवाला से हत्या मामले जगरूप सिंह रुपा व मनप्रीत सिंह मन्नु को एक 6 घंटे चली मुठभेड़ में ढेर कर दिया है l बता दे कि 1992 काडर के श्री यादव अपने शुरुआती कैरीयर से अपनी एक supercop की पहचान रखते है l उन्होंने केवल 3 दिन पहले ही सिद्धू मूसेवाला के पिता से मुलाकात करके कु़छ बड़े यकीन दिलवाए थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार अमृतसर निकट गांव भकना में एक खाली हवेली में सिद्धू मुस्सेवाला के फरार हत्यारों के छिपे होनें की सूचना पुलिस को मिली थी l जिनको पुलिस ने 6 घंटे लम्बी चली मुठभेड़ के बाद ढेर कर दिया है। इस एनकाउंटर दौरान गैंगस्टरों में जगरूप रूपा और मन्नु कुस्सा भी ढेर हो गए हैं। इसके साथ ही पुलिस के 6 कर्मचारी भी गंभीर घायल हुए हैं। आपको बता दें कि अमृतसर अटारी बार्डर पर सुबह 10 बजे से गैंगस्टर व पुलिस के बीच आपसी मुठभेड़ हो रही थी। गैंगस्टरों और पुलिस के बीच लगभग साढ़े 6 घंटे यह एनकाउंटर चला है। मौके पर डी.जी.पी. व आला अधिकारी भी मौजूद रहे।

पंजाबी गायक व कांग्रेसी नेता सिद्धू मूसेवाला की फाइल फोटो

सूत्रों के हवाले से 3 गैंगस्टरों के होने की सूचना मिली थी परंतु अभी तीसरे गैंगस्टर के बारे में कोई जानकारी हासिल नहीं हुई है। पुलिस द्वारा 1 किलोमीटर तक एरिया को सील किया गया है। जिस जगह पर एनकाउंटर हो रहा वह अमृतसर से करीब लगभग साढ़े 13 किलोमीटर दूर है और भारत-पाकिस्तान बार्डर से साढ़े 9 किलोमीटर दूर है। इस दौरान यह भी खबर सामने आई है कि 6 पुलिस कर्मी घायल हुए हैं और उन्हें गुरु नानक अस्पताल अमृतसर में दाखिल करवाया गया है। एनकाउंटर के चलते पूरा गांव खाली करवाया गया है। मौके पर उपस्थित लोगों का कहना है कि यह एक कार में 4 लोग थे जिनका पीछा पुलिस कर रही थी। व्रीजा कार थी, उसमें 4 लोग निकले थे तो उनके पास बड़ी संख्या में हथियार थे। मुठभेड़ में अभी तक 6 मुलाजिम घायल हुए हैं।

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि गैंगस्टर जहां छुपे थे,  वह किसी बलविंदर सिंह का डेयरी फार्म है। गौरतलब है कि सुबह 10.10 बजे से एनकाउंटर शुरू हुआ है। आपको बता दें कि सिद्धू मूसेवाला हत्यकांड मामले सबसे पहले इसी शार्प शूटर ने गोली चलाई थी। कुछ देर फायरिंग रुकने के बाद अचानक गोलियों की आवाज फिर तेज हो गई। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि इस दौरान एक निजी चैनल के मीडिया कर्मी के पैर में गोली का छर्रा लगने की सूचना मिली थी, जख्म ज्यादा गहरा नहीं थे फिर भी मीडिया कर्मी को प्राथमिक सहायता दी जा रही है। इसी के चलते मीडिया कर्मियों को वहां से खदेड़ते हुए दूर रहने को कहा गया है और आगे जाने से रोक दिया। पुलिस के कुछ कमांडों द्वारा लगातार अंदर जाकर गैंगस्टरों को खदेड़ने की कोशिश की जा रही थी लेकिन जवानों पर गैंगस्टरों द्वारा फायर किए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार पुलिस को जब इन गैंगस्टरों के छुपे होने की सूचना मिली तो शार्प शूटरों को आत्मसमर्पण करने के लिया कहा परंतु उनकी ओर से जवाब में पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई। मुठभेड़ दौरान अलग-अलग पुलिस विंग व सीनियर अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं। इस दौरान पूरा एरिया सील कर दिया गया है और लोगों को अपने घरों में रहने के लिए कहा गया ताकि किसी को कोई नुकसान न पहुंचे। बताया जा रहा है कि गैंगस्टरों के पास बहुत बड़े हथियार हैं। बता दें कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड मामले में जगरूप रूपा और मन्नु कुस्सा लगातार फरार चल रहे थे और ये दोनों शूटर्स पुलिस को चकमा दे रहे थे। कहा जा रहा है कि ये शूटर्स तरनतारन में दिखाई दिए थे। हत्या के बाद ये आरोपी पंजाब में ही छुपकर रह रहे थे और 21 जून को पंजाब में देखे गए थे। पुलिस इन गैंगस्टरों की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही थी। गौरतलब है कि एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स द्वारा यह बड़ा एक्शन लिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!