BREAKINGCRIMEDOABAFIROZPURJALANDHARMAJHAMALWAPUNJAB

🔰पंजाब : बर्खास्त इंस्पेक्टर बाजवा के घर पुलिस छापेमारी में 4.7 किलो नशीला पाऊडर व नशीली गोलियां बरामद

बर्खास्तगी के बाद से फरार चल रहा है नारकोटिक्स सेल का इंस्पेक्टर बाजवा

फिरोजपुर (हितेश सूरी/न्यूज़ लिंकर्स संवाददाता) : पंजाब पुलिस ने नारकोटिक्स सेल के बर्खास्त इंस्पेक्टर परमिंदर सिंह बाजवा के घर पुलिस ने 4.7 किलोग्राम नशीला पाउडर और 3,710 नशीली गोलियां बरामद की हैं। बता दे की एक किलो हेरोइन का फर्जी केस तैयार करने और 81 लाख रुपये गायब करने के आरोप में परमिंदर सिंह बाजवा को पहले से नारकोटिक्स सेल से बर्खास्त चल रहा है l बर्खास्त इंस्पेक्टर के घर से भारी मात्रा में नशे के अतिरिक्त आठ कारतूस बरामद हुए हैं। अब पुलिस ने नशीले पाउडर को जांच के लिए लैब में भेजा है। अगर पाउडर हेरोइन है तो फर्जी केस के लिए एक किलो हेरोइन लाने का मामला हल हो सकता है। IG सुखचैन गिल के अनुसार मामले में जांच जारी रखते हुए फिरोजपुर से पुलिस टीमों ने सोमवार को बर्खास्त परमिंदर बाजवा के किराए के मकान की तलाशी ली और भारी मात्रा में नशीला पदार्थ बरामद किया। उन्होंने बताया कि ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में तय प्रक्रिया का पालन करते हुए तलाशी ली गई। आइजी ने कहा कि नशीले पदार्थ की बरामदगी के संबंध में बर्खास्त इंस्पेक्टर बाजवा के खिलाफ थाना कुलगढ़ी में एनडीपीएस का मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा उसके घर से मिले कारतूस की जांच की जा रही है। उधर, एसएसपी सुरिंदर लांबा ने कहा पुलिस आरोपित बाजवा के बेहद करीब है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि पुलिस रिमांड के दौरान आरोपित एएसआइ अंग्रेज सिंह, राजपाल और हेड कांस्टेबल जोगिंदर सिंह से महत्वपूर्ण जानकारी मिली है लेकिन उसको सार्वजनिक नहीं कर सकते।
जिक्र योग्य है की नारकोटिक्स सैल के बर्खास्त इंस्पेक्टर परमिंदर सिंह बाजवा ने लुधियाना और बीकानेर के दो लोगों पर एक किलो हेरोइन और पांच लाख रुपये की ड्रग मनी बरामद होने का केस दर्ज किया था। इस संबंध में पकड़े गए युवकों के परिजनों ने जब पुलिस अधिकारियों के पास शिकायत दर्ज करवाई तो जांच में सामने आया कि यह सारा मामला झूठा है। यही नहीं उक्त इंस्पेक्टर ने दोनों युवकों से कुल 86 लाख रुपये बरामद कर 81 लाख रुपये गायब कर दिए और पांच लाख की रिकवरी दिखाई। इस मामले में पुलिस ने नारकोटिक कंट्रोल सेल इंस्पेक्टर परमिंदर सिंह, एएसआइ अंग्रेज सिंह, हेड कांस्टेबल जोगिंदर सिंह और सीआइए के एएसआइ राजपाल को नौकरी बर्खास्त कर दिया था। इस मामले में परमिंदर सिंह फरार है जबकि शेष को पुलिस ने ऊना से गिरफ्तार कर लिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!