BREAKINGCHANDIGARHDOABAJALANDHARMAJHAMALWAPUNJAB

🌐पासपोर्ट पैटर्न पर डिलीवर होंगे DL और RC : स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डा. अमरपाल सिंह
👉ड्राइविंग लाइसेंस व आरसी की प्रिंटिंग का काम चंडीगढ़ शिफ्ट होने से लोगो को हो रही भारी परेशानी ‼️
👉स्मार्ट चिप कर्मी बखूबी ढंग से निपटा रहे थे काम : एडवोकट कुणाल गुगलानी

जालंधर (हितेश सूरी) : पंजाब ट्रांसपोर्ट विभाग द्वारा 1 फरवरी से DL और RC की प्रिंटिंग का काम चंडीगढ़ में शिफ्ट होने से आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बता दे कि पहले पंजाब सरकार के ट्रांसपोर्ट विभाग द्वारा पंजाब भर में बिना किसी गतिरोध के चल रहा DL और RC की प्रिंटिंग का काम अचानक चंडीगढ़ शिफ्ट कर दिया गया है। जालंधर के युवा वकील कुणाल गुगलानी ने न्यूज़ लिंकर्स से एक विशेष बातचीत दौरान कहा कि नई नीति के तहत ट्रांसपोर्ट विभाग द्वारा स्पीड पोस्ट के माध्यम से DL और RC भेजने की योजना की प्रक्रिया बहुत जटिल है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट चिप कंपनी के कर्मी बखूबी से इस काम को निभा रहे थे। जिससे आम लोगो को बहुत राहत थी। उनका काम जल्दी व सही ढंग से हो जाता था। श्री गुगलानी ने कहा कि अगर सरकार को प्रिंटिंग व स्कैनिंग का काम चंडीगढ़ शिफ्ट करना ही था तो पंजाब में जालंधर सहित कम से कम तीन महानगरों में प्रिंटेड DL और RC के डिलीवरी सेंटर स्थापित किये जाने चाहिए थे। जबकि सरकार ने ऐसा न करते हुए DL और RC की स्कैनिंग व प्रिंटिंग का काम सीधा चंडीगढ़ , मोहाली शिफ्ट कर दिया। उन्होंने कहा कि इस नई योजना के तहत न केवल लोगो को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा बल्कि प्रति DL और प्रति RC अतिरिक्त खर्चा भी अदा किया जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार के इस फैसले से आम जनता को परेशान होना पड़ रहा है वही दूसरी तरफ स्मार्ट चिप कंपनी से जुड़े हज़ारों युवाओं की नौकरियों पर संकट के बदल छा जायेंगे। श्री गुगलानी ने आगे कहा कि पिछले 8 – 8 वर्षों से ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट से जुड़े स्मार्टचिप कंपनी के माध्यम से जुड़े युवाओं के लिए भी आने वाले समय में रोज़गार की समस्या उत्पन्न हो जाएगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही प्रधानमंत्री , केंद्रीय परिवहन मंत्री व पंजाब के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर सरकार के इस निर्णय को रद्द करने अथवा संशोधित करवाने की मांग रखी जायेगी।

पासपोर्ट पैटर्न पर डिलीवर होंगे DL और RC : स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डा. अमरपाल सिंह

चंडीगढ़ (हितेश सूरी) : इसी बीच स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर डा. अमरपाल सिंह पर टेलीफोन पर उक्त मामले पर बात की गयी तो उन्होंने बताया कि लोगो को मात्र 12 या 13 रूपए अतिरिक्त शुल्क ही अदा करना पड़ेगा व DL और RC की डिलीवरी पासपोर्ट पैटर्न पर होगी। न्यूज़ लिंकर्स से बातचीत दौरान डा. सिंह ने कहा कि स्पीड पोस्ट का शुल्क 33 रूपए लगेगा पर स्कैनिंग के 20 रूपए कम होने से लोगो को मात्र 12 या 13 रूपए ही अतिरिक्त अदा करने होंगे। स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर से जब डिलीवरी सेंटर के विषय पर बात की गयी तो उन्होंने कहा कि सरकार का पैटर्न पासपोर्ट डिलीवरी वाला ही रहेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!