BREAKINGDOABAJALANDHARPUNJAB

🔰ऑल पंजाब CITS/ DST कॉन्ट्रैक्ट यूनियन ने दी पंजाब सरकार को चेतावनी!!
🔰नई भर्ती का नोटिफिकेशन जारी करने से पहले कच्चे इंस्ट्रक्टरों को पक्का करे सरकार

जालंधर (हितेश सूरी) : ऑल पंजाब CITS/ DST कॉन्ट्रैक्ट यूनियन ने प्रेस को जारी एक विज्ञप्ति में बताया की पंजाब में जितनी भी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाएं है उस में DST इंस्ट्रक्टर के तौर पर काम कर रहे कच्चे कर्मचारी काफी लम्बे समय से अपनी सेवाए औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग को दे रहे है । उन्होंने बताया की अब सरकार पंजाब में अनुदेशक की बहाली करने जा रही है जिस में क्राफ्ट इंस्ट्रक्टर की 845 पोस्ट शामिल है l उन्होंने बताया की इन पदों पर काम कर रहे इंस्ट्रक्टर DGT नई दिल्ली द्वारा बहाली के लिए अनिवार्य योग्यता पूर्ण करते है और उन्हें औद्योगिक संस्थानों में काम करने का अनुभव भी है । यूनियन पदाधिकारियों ने बताया इस संबंध में यूनियन ने तकनीकी शिक्षा विभाग के मुख्य कार्यालय से बार – बार सम्पर्क किया है और डायरेक्टर व प्रिंसिपल सेक्रटरी से भी इस मामले में बातचीत की है पर उन्होंने यूनियन के समक्ष असर्मथता दिखाते हुए इसे सरकार का काम बताया है और मुख्यमंत्री भगवंत मान से सम्पर्क करने के लिए कहा है । उन्होंने बताया की बहुत बार मुख्यमंत्री से मिलने के प्रयास किए गए है और साथ-साथ पत्राचार के माध्यम से भी निवेदन किया गषा पर CMO द्वारा हमे मिलने जा बैठक के लिए समय नहीं दिया गया है । यूनियन पदाधिकारियों ने कहा उनका सरकार से अनुरोध है कि इन पदों का नोटिफिकेशन जारी करने से पहले पंजाब के संस्थानों में कच्चे तौर पर काम कर रहे इंस्ट्रक्टरों को विभाग मे़ पक्का करे फिर नोटिफिकेशन जारी करे l क्योंकि इन पदों पर कच्चे कर्मचारी के रुप में काम कर रहे अधिकतर कर्मचारी अपनी आयु सीमा पार कर गए है l यूनियन नेताओं ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान से अनुरोध किया है की नोटिफिकेशन जारी करने से पहले सरकार कच्चे कर्मचारियों के भविष्य को देखते हुए कोई पॉलिसी बना कर विभाग के अधीन करे अन्यथा यूनियन आने वाले समय में धरना प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होगी । इस अवसर पर यूनियन के प्रधान संदीप सिंह , अप प्रधान सिमरनजीत सिंह फिरोजपुर , प्रदीप सिंह , मनजिंदर सिंह , और यूनियन के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!