AMRITSARBARNALABATHINDABREAKINGCHANDIGARHCRIMEDOABAFARIDKOTFATEHGARH SAHIBFAZILKAFIROZPURGURDASPURHOSHIARPURJALANDHARKAPURTHALALUDHIANAMAJHAMALERKOTLAMALWAMANSAMOGAMOHALIMUKTSARNAWANSHAHRPATHANKOTPATIALAPHAGWARAPUNJABROPARSANGRURTARN TARAN

🔰अमृतपाल सिंह ने तैयार कर रखा था खालिस्तान का पूरा ब्लू प्रिंट
🔰खालिस्तान के नक़्शे, करेंसी, झंडे व आर्मी को लेकर अमृतपाल के गिरफ्तार गनर गोरखा बाबा ने किये बड़े खुलासे, पढ़ें क्या ??

जालंधर (न्यूज़ लिंकर्स ब्यूरों) : अजनाला थाना कांड के मुख्य आरोपी व खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह को लेकर बड़ी खबर आ रही है। पुलिस के मुताबिक खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह ने अलग देश खालिस्तान बनाने का पूरा ब्लू प्रिंट तैयार कर रखा था। मिली जानकारी के अनुसार खन्ना पुलिस की एस.एस.पी. अमनीत कौंडल ने बताया कि ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह के गनर तजिंदर सिंह उर्फ गोरखा बाबा ने अमृतपाल को लेकर चौंकाने वाले बड़े खुलासे किए हैं।

आनंदपुर खालसा फौज (AKF) का चिह्न

एस.एस.पी. कौंडल का कहना है कि इन लोगों ने खालिस्तान का नया झंडा, अलग करेंसी और सिख रियासतों के झंडे तक बना लिए थे। एस.एस.पी. कौंडल का कहना है कि प्राइवेट आर्मी आनंदपुर खालसा फौज (AKF) के अलावा एक क्लोज प्रोटेक्शन टीम (CPT) भी बनाई थी और AKF के हर व्यक्ति को स्पेशल नंबर अलॉट किया गया था।

पुलिस द्वारा अमृतपाल सिंह के गनर से 10 डॉलर की खालिस्तानी करेंसी बरामद की गयी है

उन्होंने कहा कि खालिस्तान बनाने के लिए अमृतपाल सिंह की हथियारबंद संघर्ष शुरू करने की तैयारी थी और 2 वॉट्सऐप ग्रुप बनाए गए थे, आनंदपुर खालसा फौज वाले ग्रुप में नए लड़कों को जोड़कर उकसाया जाता था और वही दूसरा ग्रुप अमृतपाल टाइगर फोर्स के नाम से था, जिसमें सिर्फ अमृतपाल के करीबी ही मेंबर थे।

अमृतपाल सिंह ने अपने गांव जल्लूपुर खेड़ा में युवकों को ट्रेनिंग देने हेतु फायरिंग रेंज बनवाई थी

पुलिस ने ट्रेनिंग देने के केस में 2 पूर्व सैनिकों 19 सिख बटालियन से रिटायर्ड वरिंदर सिंह और थर्ड आर्म्ड पंजाब के तलविंदर की पहचान की है। पुलिस ने बताया कि दोनों के आर्म्स लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं। पुलिस जांच के मुताबिक अमृतपाल ने पंजाब आते ही ऐसे विवादित पूर्व सैनिकों को ढूंढना शुरू कर दिया था, जिनके पास पहले से ही आर्म्स लाइसेंस हों, ताकि ट्रेनिंग देने में आसानी हो। गौरतलब है कि पंजाब पुलिस को अमृतपाल सिंह का पासपोर्ट घर से गायब मिला है।

खालिस्तान का नक्शा। इसमें पाकिस्तान के पंजाब समेत कुछ इलाके और भारत के जम्मू-कश्मीर और पंजाब को शामिल दिखाया गया है।

पुलिस ने परिवार से इसकी मांग की, लेकिन उन्होंने पासपोर्ट होने से इंकार कर दिया, इसे देखते हुए पुलिस ने एयरपोर्ट और लैंड पोर्ट पर उसके लुकआउट सर्कुलर का रिमाइंडर भेज दिया है। वही पंजाब से भागे अमृतपाल सिंह के हरियाणा के बाद अब उत्तराखंड पहुंचने का शक है।

खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह की बनाई आनंदपुर खालसा फौज (AKF) के मेंबर। सभी बुलेटप्रूफ जैकेट पहने हैं।

पुलिस का अनुमान है कि उसकी अगली कोशिश नेपाल बॉर्डर क्रॉस करने की होगी। उत्तराखंड में अमृतपाल सिंह, मीडिया एडवाइजर पपलप्रीत सहित 5 साथियों के पोस्टर लगा दिए गए हैं। वहीं दूसरी तरफ नेपाल बॉर्डर पर भी BSF को अलर्ट रहने के लिए कह दिया गया है। इसके साथ-साथ सभी गुरुद्वारों की चेकिंग की जा रही है। उत्तराखंड पुलिस काशीपुर इलाके में अनाउंसमेंट कर रही है कि अगर किसी ने अमृतपाल और उसके किसी साथी को पनाह दी तो उन पर NSA के तहत कार्रवाई की जाएगी।

खालिस्तान का झंडा, इस पर खंडा का चिह्न बना हुआ है।

वहीं, इनकी सूचना देने वाले को इनाम दिया जाएगा। पुलिस सूत्रों के मुताबिक अमृतपाल पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के इशारे पर काम कर रहा है। यहां तक कि उसका दुबई से पंजाब आने से लेकर नशा छुड़ाओ केंद्र खोलने तक सब ISI का प्लान था। अब भी फरारी में ISI के एजेंट गुपचुप तरीके से उसे सिक्योरिटी दे रहे हैं।

अमृतपाल सिंह के चाचा हरजीत सिंह

अमृतपाल सिंह के चाचा हरजीत सिंह का एक ऑडियो वायरल हुआ है। इस ऑडियो में किसी हरमेल सिंह से अमृतपाल सिंह को सरेंडर करने के लिए कहा जा रहा है। चाचा हरजीत बोला- ‘तू कित्थे हैं, तू भी गायब ही है ना, भाई साहिब के साथ बातचीत हुई या नहीं, हमें लगता है हमारे बीच ही एजेंसियों के बंदे छिपे हैं, मैं सरेंडर करने जा रहा हूं, अगर पुलिस हमें पकड़ती है तो इसमें बेइज्जती बहुत है, लेकिन अगर हम सरेंडर करते हैं तो इसमें हमारी शान है, हमारे ही किसी ने हमें पकड़वा देना है और अगर भाई साहिब से बातचीत हो तो उन्हें सरेंडर करने के लिए कहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!